स्काउट आन्दोलन के संगठन

स्काउट आन्दोलन के संगठन

विश्व गर्ल गाइड्स और गर्ल स्काउट संगठन (WAGGGS) , WORLD ASSOCIATION अंतर्राष्ट्रीय विश्व गाइड संगठन की छत्रछाया में, राष्ट्रों के सदस्य संगठनों से निर्मित है जिन्होंने सदस्यता के सिद्धांतों को स्वीकार किया हो और संस्थापक लार्ड बेडन पावेल द्वारा स्थापित सिद्धांतों के अनुरूप कार्य कर रहे हैं।

विश्व गाइड संगठन (WAGGGS) के अंग

विश्व गाइड संगठन (WAGGGS) के निम्नलिखित तीन अंग हैं-
(क) विश्व सम्मेलन (World Conference)
(ख) विश्व बोर्ड (World Board)
(ग) विश्व ब्यूरो कार्यालय (World Bureau)

(क) विश्व सम्मेलन (World Conference)

यह नीति निर्धारक अंग है। जिसकी तीन वर्ष में एक बार सभा होती है। इसमें प्रत्येक सदस्य देश के दो प्रतिनिधि होते हैं। किंतु मत एक ही होता है। सदस्यों की संख्या के अनुसार अन्य लोग भी सम्मिलित हो सकते हैं।

(ख) विश्व बोर्ड (World Board)

बोर्ड में 12 सदस्य चुने जाते है। जो विश्व सम्मेलन के कार्यों को कार्यान्वित करते हैं। प्रत्येक सदस्य 6 वर्ष के लिये चुना जाता है। ये 12 सदस्य अपने में से सभापति चुन लेते हैं। बोर्ड के सदस्यों में से प्रति तीन वर्ष बाद 1/3 सदस्य सेवा मुक्त हो जाते हैं। बोर्ड की कम से कम एक सभा प्रति वर्ष ओलेव सेंटर लन्दन में होना अनिवार्य है।

(ग) विश्व ब्यूरो कार्यालय (World Bureau)

यह संगठन का कार्यलय है। 1928 में स्थापित वैग्स मुख्यालय लन्दन में स्थिति है। इसका कार्य विश्व बोर्ड द्वारा पारित आदेशों, नियमों को लागू करना और समस्त सदस्य देशों को सूचित करना है।

विश्व गाइड केन्द्र (WorldGuide Centres)

1. पैक्स लॉज-लन्दन
2. अवर कबाना-मेक्सिको
3. अवर चैलेंट-स्विजरलैंड
4. संगम-पुणे (भारत)
5. कुसाफिरी (अफ्रीका)

प्रत्येक केन्द्र की एक उपसमिति होती है जिसमें विश्व भर के सदस्य होते हैं । वे केन्द्र के अंतर्गत सभी देशों की प्रगति के लिये योजना और प्रस्ताव बनाते हैं। इन केन्द्रों पर अनेक अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।
वैग्स की आय का मुख्य स्त्रोत कोटामनी है। सदस्यता शुल्क, अनुदान, दान, चिंतन दिवस सहयोग राशि और सम्पत्ति ही आय के मुख्य साधन है।

स्काउट आन्दोलन का विश्व संगठन (WOSM) के बारे में जानकारी

स्काउट आन्दोलन का विश्व संगठन एक अंतर्राष्ट्रीय, अशासकीय संगठन है जिसके निम्नलिखित तीन अंग हैं।
1. विश्व स्काउट सम्मेलन (World Scout Conference)
2. विश्व स्काउट समिति (World Scout Committee)
3. विश्व स्काउट ब्यूरो (World Scout Bureau)

विश्व स्काउट सम्मेलन –

यह स्काउटिंग का सामान्य सदन है। विश्व संगठन का यह प्रशासकीय अंग है। विश्व के सभी सदस्य देशों के प्रतिनिधि इसके सदस्य होते हैं। प्रत्येक तीन वर्ष में इसकी सभा होती है। किसी भी देश का केवल एक संगठन ही मान्य होता है। राष्ट्रों के अधिकतम 6 सदस्य प्रतिनिधित्व कर सकते हैं। पंजीकृत देशों के अन्य दर्शक भी सम्मेलन में भाग ले सकते हैं।

सम्मेलन का उद्देश्य –

विश्वभर के स्काउट आन्दोलन में एकता, अखण्डता, और प्रगति को प्रोत्साहित करना है, यह निम्न प्रकार प्रतिपादित किया जाता है।

  • सदस्यों के बीच विचारों का आदान-प्रदान करने की सुविधा देना।
  • सामान्य नीति निर्धारण करना।
  • विश्व स्काउट समिति और सदस्य संगठनों से प्राप्त रिपोट और सिफारिशों को स्वीकार करना।
  • विश्व संगठन के वे सभी वैधानिक कार्य करना जैसे-चुनाव, सदस्यता के लिये प्रार्थना पत्र, पंजीकरण शुल्क, विधान में संशोधन और उपनियम आदि।

2. विश्व स्काउट समिति -(World Scout Committee)

यह वौज्म: प्रशासनिक अंग है। यह विश्व स्काउट सम्मेलन में पारित प्रस्तावों को लागू करने के का लिये उत्तरदायी है और, उसके प्रतिनिधि के रूप में कार्य करता है।
समिति में कुल 14 सदस्य होते हैं। 12 सदस्य विश्व स्काउट सम्मेलन द्वारा सदस्य प्रतिनिधियों में से 6 वर्ष के लिये चुने जाते हैं। सेक्रेटरी जनरल और कोषाध्यक्ष पदेन सदस्य होते हैं। क्षेत्रीय स्काउट समिति से सभापति इस समिति परामर्शदाता के रूप में सम्मिलित होते है।

समिति की वर्ष में दो सभायें होती हैं। विशेषकर जेनेवा (स्विजरलैंड) में। इसकी कार्यकारी समिति के सभापति, दो उप सभापति और सेक्रेटरी जनरल आवश्यकतानुसार मिलते रहते हैं । इस समिति की दो महत्वपूर्ण उप समितियाँ होती हैं-वित्त और सहायता उपसमिति और शैक्षिक विधि उपसमिति।

3. विश्व स्काउट ब्यूरो (World Scout Bureau)-

विश्व संगठन का यह सचिवालय है, जो सेक्रेटरी जनरल द्वारा निर्देशित रहता है, इसकी नियुक्ति विश्व स्काउट समिति करती है, वह संगठन का मुख्य प्रशासनिक अधिकारी होता है। विश्व स्काउट सम्मेलन का मुख्यालय जनेवा, स्विजरलैंड में स्थित है।

क्षेत्रीय कार्यालय-

  • अफ्रीकी क्षेत्र-नैरोबी (केन्या), डकर, सेनेगल और केपटाउन।
  • अरब क्षेत्र -काहिरा (मिश्र), एशिया प्रशांत क्षेत्र-मनीला (फिलीपिन्स)।
  • यूरेशिया क्षेत्र- याल्टा, गुरजुफ (यूक्रेन), मास्को (यू.एस.एस.आर.)।
  • यूरोपियन क्षेत्र-जनेवा (स्विजरलैंड), ब्रूसेल्स (बेलजियम)।
  • अमेरिका क्षेत्र – सेन्टीयागो, चिली।
You might also like