स्काउटिंग में खेल

स्काउटिंग में खेल : खेलना बच्चे की जन्मजात प्रवृति है। खेलों से उसका शारीरिक, मानसिक व चारित्रिक विकास होता है। खेलों से बच्चों में अनेक सद्गुणों का विकास होता है. जैसे-उत्तम स्वभाव, खिलाड़ी भावना का विकास, एकता की भावना, सहनशीलता. अनुशासन, निःस्वार्थ भाव, नियमों का पालन करने की क्षमता, आत्म-नियंत्रण, नेतृत्व शक्ति का विकास आदि।

स्काउटिंग में खेल

स्काउट/गाइड शिक्षा भी एक खेल है। खेल-खेल में स्काउट/गाइड जीवनोपयोगी अनेक बातें सीख जाते हैं। खेलों में मनोरंजन और शिक्षा का ऐसा सामंजस्य रहता है कि, स्काउट/गाइड उनमें आनन्द की अनुभूति प्राप्त करते हैं। स्काउटिंग के जन्मदाता लार्ड बेडन पावेल ने भी स्काउटिंग को एक खेल, किन्तु शैक्षिक खेल कहा है। अतः स्काउट/गाइड शिक्षा में खेलों का एक विशिष्ट स्थान है।

खेल व उनके प्रकार

खेलों को अनेक श्रेणियों में बांटा जा सकता है। जिनमें से निम्नलिखित प्रमुख है :

1. सामान्य या दल के खेल (General or Troop Games) –

दल में चुस्ती व फुर्ती लाने के लिये प्रारम्भ में ऐसे खेल को खिलाया जाता है। इससे उनमें अनुशासन आता है। प्रत्येक सदस्य को ऐसे खेल में भाग लेने का अवसर प्राप्त होता है। इस श्रेणी में संगठन, नियम व प्रतिज्ञा, सैल्यूट, हप, फुर्र, नीर-तीर इत्यादि खेल आ सकते हैं। इन्हें अधिकतर वृत्ताकार घेरे में खिलाया जाता है।

2. टीम के खेल (Team Games)-

इन खेलों में दो टीमें बनती है। जैसे-रुमाल झपट, डॉजबॉल, पैटन टैंक, रस्सा कस्सी, कबड्डी, खो-खो तथा इन्डोर व आउट डोर सभी पाश्चात्य खेल इस श्रेणी में आ जाते हैं। इन खेलों से शारीरिक व मानसिक चैतन्यता प्रबल होती है।

3. झण्डी दौड़ के खोल (Relay Games)-

अनेक टोलियों बनाकर जो खेल खेले जाते हैं, उन्हें झण्डी दौड़ के खेल कहा जाता है। इस श्रेणी में स्काउट/गाइड कौशल की टोलीवार प्रतियोगिताएं आ जाती है। सुरंग दौड़, बॉगल रिले, गाँठ प्रतियोगिता, कला प्रतियोगिता आदि खेल इसमें आ जाते हैं।

4. ज्ञानेन्द्रियों के खेल या किम गेम्स (Sense Training Games )

आँख, कान, नाक, जिव्हा, स्पर्श को सजग करने के लिये इन खेलों को खिलाया जाता है। स्काउटिंग में इन्हें ‘किम्स गेम’ का नाम दिया गया है। वस्तुओं को देखकर स्मरण करने के लिये 24 परिचित वस्तुओं को एक मिनट दिखाकर 2 मिनट में उन्हें लिखकर लाने को कहा जाता है। कम से कम 16 वस्तुओं के नाम लिखने वाले स्काउट/गाइड को स्तर से ऊपर (Above Standard) तथा कम को स्तर से नीचे (Under Standard) कहा जाता है। इसी प्रकार विभिन्न आवाजों को सुनने से कर्णेन्द्रिय, विभिन्न वस्तु को चखने से जिव्हा का, विभिन्न वस्तुओं को सुंघने से नासिका तथा छूने से स्पर्शेन्द्रिय के खेल कराये जा सकते हैं। इन खेलों का स्काउट गाइड के लिये महत्वपूर्ण स्थान है।

5. परीक्षण का खेल ( Test Games)- ये खेल प्रशिक्षण तथा पुनरावृत्ति के लिये खिलाये जाते हैं जैसे-गाँठे, बन्धन, पुल निर्माण, तम्बू तानना एवं भोजन पकाना आदि।

6. शान्त खेल (Quiet Games)-

इन खेलों को कैम्प फायर से या भोजन के बाद बिना आवाज किये खेला जाता है जैसे-संदेश भेजना।

7. टोली खेल (Patrol Games)-

इन खेलों को टोलियां अलग-अलग खेलती हैं जैसे-मोगली, शेर खाँ इत्यादि।
इस खेल में दल कम्पनी की चारों टोलियाँ अपने-अपने कॉर्नर पर जाकर खेलती है। लम्बे आगे छोटे पीछे कद से खड़े होकर जंजीर बनायी जाती है। आगे वाले की कमर दोनों हाथ गूंथकर मजबूती से पकड़ ली जाती है। उनमें से एक स्काउट/गाइड शेर खां बन जाता है। इस जंजीर को मोगली नाम दिया जाता है। अन्तिम खिलाड़ी की कमर पर पीछे से एक स्कार्फ पूंछ की तरह लटका दी जाती है। मोगली की पूंछ न पकड़े जा सके इसके लिये वे उससे बचते हैं, आगे का खिलाड़ी अपने हाथ फैलाकर उसे पूंछ की ओर न जाने देने के लिये प्रयास करता है। यदि शेर खां पूंछ
पकड़ने में सफल हो जाता है तो उसे विजयी घोषित किया जाता है अन्यथा मोगली की विजय मानी जाती है।

स्काउट के द्वितीय सोपान के खेल

वाइड खेल (Wide Games)

असीमित क्षेत्र में खेले जाने वाले खेलों को विस्तृत खेल कहा जाता है। विस्तृत खेलों (Wide Games) का रात्रि में खेलना भी रोचक होता है। इस खेल को खेलने से पूर्व क्षेत्र का चयन दिन में कर लेना चाहिए। स्थान प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण, शान्त तथा जंगली जानवरों के भय से मुक्त होना चाहिए। यह खेल दो टोलियों या टीमों के मध्य खेला जाता है। BER

दुर्ग विजय-

किसी जंगल में एक टीम ध्वज गाड़कर किला बना लेती है, दूसरी टीम के सदस्य छिपकर उस ध्वज को पाने का प्रयास करते हैं। यदि किसी टीम का कोई सदस्य दूसरी टीम को दिख जाये तो उसे अपनी टीम में मिलाते जाते हैं। निर्धारित समय में पहली टीम ध्वज प्राप्त करने में सफल हो जाती है तो वह विजय घोषित होगी अन्यथा दूसरी टीम (रक्षक टीम) विजयी मान ली जायेगी।

खजाने की खोज –

किसी साफ सुथरे जंगल में दिन में जाकर नीली, पीती, हरी या लाल झंण्डियाँ छिपा दी जाती है ताकि वे आसानी से न दिख सकें किन्तु सूक्ष्मतम खोज करने पर मिल जायें। अब रात्रि में दल या टोलीवार या दो टीमें बनाकर लिखित निर्देश देकर उन्हें ढूंढने को कहा जाता है। निर्देश पढ़ने के लिए एक लीडर या टीम लीडर नियुक्त कर दिये जाते हैं। जिससे सभी सदस्य निर्देशों का पालन कर सकें । छिपी झण्डी के स्थान की कदमों में परिधि निश्चित कर दी जाती है। जिस टीम के सदस्य झण्डी ढूंढ लेते हैं उन्हें श्रेय दिया जाता है। यदि ढूंढने में अधिक समय नष्ट हो रहा हो तो परिधि को घटा दिया जाना चाहिए।

निरीक्षण शक्ति का प्रशिक्षण (Kims Games)

स्काउटिंग गाइडिंग में स्काउट गाइड की निरीक्षण शक्ति को बढ़ाने के लिए किम्स खेलों का सहारा लिया जाता है। अच्छे स्काउट/गाइड की एक विशेषता यह है कि उसकी निरीक्षण शक्ति तीव्र होती है। एक नजर में देखकर ही सारी सूचनायें जान लेता है। इसके लिये उन्हें निरीक्षण के खेल-आँख, नाक, कान, रसना व स्पर्श के खेल खिलायें जाते हैं। जिनका नाम स्काउटिंग में किम्स गेम दिया गया है।

किम बाल ओहरा नामक, भारत में स्थित, आयरिस सेना के सार्जेन्ट का पुत्र, एक बालक था जिसके माता पिता का बचपन में ही देहान्त हो गया था। वह भारतीय बच्चों में घुलमिल गया था और वहीं की भाषा अच्छी तरह जानता था। अकस्मात् एक दिन उसे अपनी पिता की रेजिमेंट दूसरे स्थान पर जाती मिल गयी। घुस गया और पकड़ा गया। जाँच करने पर पाया गया कि वह उसी रेजीमेंट. के सार्जेन्ट का बेटा है उसे रेजिमेन्ट ने अपने अधिकार में लेकर शिक्षित किया। कुछ समय बाद मि. लार्गन मिले, जो एक प्रसिद्ध जवाहरात व्यापारी और गुप्तचर विभाग के भी सदस्य थे।

मि. लार्गन ने किम को निरीक्षण में प्रवीण करने के लिये कीमती रत्नों से भरी तश्तरी एक मिनट दिखाकर 2 मिनट में याद कर वस्तुओं का लिखने का अभ्यास कराया। शुरू में वह कम वस्तुए याद कर पाया। किन्तु बार-बार अभ्यास व करने के बाद वह प्रवीण हो गया।

24 वस्तुओं में से कम से कम 16 वस्तुएँ याद करने से उसे सफल माना गया। अतः उसे जासूसी विभाग का सदस्य नियुक्त का दिया गया। उसे गुप्त ताबीज दिया गया जिसकी सहायता से वह अपने विभाग के जासूसी सदस्यों को पहचान लेता था। किम वेश बदलने में माहिर था। एक बार जब उसके विभाग का सदस्य लहुलुहान था और शत्रु उसका पीछा कर रहे थे जो किसी पुलिस चौकी के इंस्पेक्टर के पास जाना चाहता था। किम ने उसको भिखारी का भेष बनाकर इंस्पेक्टर के पास सुरक्षित पहुँचा दिया।

किम्स गेम में देखने (Observation), चखने (Taste), आवाज़ (Sound), सूंघना (Smell) और छूने (Touch), जैसे अलग-अलग खेल खिलाये जाते हैं। टोलियों को व्यस्त रखने के लिए पाँच प्रकार के बेस बनाये जा सकते है। चक्रीय विधि से हर बेस पर प्रत्येक टोली को जाना होता है।

देखने (Observation) के खेल के लिये एक मेज पर चौबीस जानी पहचानी वस्तुएँ रख दी जाती है। उन्हें चादर से ढक दिया जाता है। टोली मेज के चारों ओर खड़ी कर दी जाती है। प्रत्येक सदस्य नोटबुक और पैन लेकर आता है। चादर को एक मिनट के लिये हटा दिया जाता है। किसी वस्तु का नाम न पता हो तो उसे बता दिया जाता है। अब चादर से उसे पुनः ढक दिया जाता है। टोली के सभी सदस्यों को दो मिनट में वस्तुओं के नाम लिखने को कहा जाता है। 16 वस्तुओं से अधिक जिसने नाम लिखें हों उन्हें सफल घोषित किया जाता है। यह क्रम अगली टोलियों पर भी लागू होता है।

चखने (Taste) की वस्तुओं में विभिन्न प्रकार की चीजें पानी में घोलकर गिलासों में रख दी जाती है। जैसे चीनी, नमक, मिर्च, मिट्टी, चूना, नींबू का पानी आदि । प्रत्येक को उन्हें चखने को दिया जाता है और नाम लिखने को कहा जाता है।
आवाज़ (Sound) के खेल में किसी बंद कमरे, झोपड़ी में ढोलक की आवाज, हारमोनियम, तबला अथवा फश पर थाली गिरने की आवाज़, पानी के नल का बहना, दो पत्थर टकराना, टेबल पर हाथ मारना आदि की आवाज़ लिखने को कहा जाता है।

सूघना (Smell) -इसी प्रकार सूंघने के लिये कपड़े की पोटली में विभिन्न प्रकार के मसाले रख कर टांग दिये जाते हैं। उन्हें पहचानने को कहा जाता है।

स्पर्श (Touch) के लिये छूकर जैसे गर्म, ठंडा-पानी छूना, दरवाजा, मेज़, कुसी, कापी, पेंसिल आदि छूने के खेल में आँख पर पट्टी बांध दी जाती है।

रात्रि खेल

रात्रि खेल में भाग लेना रात्रि में खेले जाने वाले खेल रात्रि-खेल कहलाते हैं।

उदाहरण के लिये टार्च का खेल ले लें, सभी खिलाड़ी एक अंधकारपूर्ण स्थल पर खड़े हो जाते हैं। दो या तीन नायक अपने पास टार्च ले लेते हैं जिसे वे अलग-अलग स्थान पर चमकाते खिलाड़ी उन्हें पकड़ने का प्रयत्न करते हैं। पकड़े जाने पर नायक उस खिलाड़ी को एक टोकन दे देता है। एक निश्चित समय सीमा के बाद सभी इकट्ठे होते हैं जिस टोली के सदस्यों के पास अधिक टोकन मिलते हैं वह अन्य टोली विजयी कहलाती है।

अन्य खेलों के लिये Nature Game and Games Galore किताब देखें।

You might also like